Commonwealth Games 2018

0

गोल्ड कोस्ट में 21वें Commonwealth Games 2018 निपट गए हैं। और 66 पदकों के साथ पदक तालिका में तीसरे नंबर पे रहते हुए देश ने विदेशी धरती पर खेले गए गेम्स में अपना दूसरा सबसे अच्छा प्रदर्शन किया है। विदेशी धरती पर इससे पहले का सबसे अच्छा प्रदर्शन 2002 के मैनचेस्टर कॉमनवेल्थ गेम्स में था जब भारतीय खिलाड़ियों ने 30 स्वर्ण के साथ 69 पदक अपने नाम किए थे। ओवरऑल में 2010 का घरेलू जमीन पर हुए कॉमनवेल्थ गेम्स में किया गया प्रदर्शन भारत का अब तक का सर्वश्रेष्ठ है जब 38 स्वर्ण के साथ देश ने 101 पदक जीते थे।

जिन 9 खेलों में भारत ने पदक जीते उसमें 7 सोने के साथ सबसे ज्यादा, 16 पदक, निशानेबाजी में मिले। इसके बाद कुश्ती में 5 स्वर्ण के साथ 12 और भारोत्तोलन और मुक्केबाजी में 9-9 पदक मिले। इनके अलावा टेबल टेनिस में 8, बैडमिंटन में 6, एथलेटिक्स में 3, स्कवॉश में 2 और पैरास्पोर्ट्स में 1 पदक भारत को मिला।

भारत को मिले पदकों को पूरी लिस्ट यहाँ है –

Gold Medal Winners –

Neeraj Chopra – Athletics (Men’s Javelin Throw)

Mary Kom- Boxing (Women’s 46-48 kg Division)

Vikas Krishan – Boxing (Men’s 75 kg Division)

Gaurav Solanki – Boxing (Men’s 52 kg Division)

Saina Nehwal – Badminton (Women’s Singles)

Saina, Sindhu, Srikanth, Prannoy, Ruthvika, Ashwini, Sikki, Satwik, Pranaav, Chirag – Badminton (Mixed Team)

Anish Bhanwala – Shooting (Men’s 25m rapid fire pistol)

Manu Bhaker – Shooting (Women’s 10m air pistol)

Shreyasi Singh -Shooting (Women’s double trap)

Jitu Rai -Shooting (Men’s 10m air pistol)

Sanjeev Rajput – Shooting (Men’s 50m Rifle 3 Positions)

Tejaswini Sawant – Shooting (Women’s 50m Rifle 3 Positions)

Heena Sidhu – Shooting (Women’s 25m pistol)

Manika, Mouma, Madhurika, Pooja, Sutirta – Table Tennis (Women’s team)

Sathiyan, Sharath, Harmeet, Sanil, Amalraj – Table Tennis (Men’s team)

Manika Batra – Table Tennis (Women’s singles)

Mirabai Chanu – Weightlifting (Women’s 48 kg Division)

Sanjita Chanu – Weightlifting (Women’s 53 kg Division)

Satish Kumar Sivalingam – Weightlifting (Men’s 77 kg Division)

Venkat Ragul Ragala – Weightlifting (Men’s 85 kg Division)

Punam Yadav – Weightlifting (Women’s 69 kg Division)

Sushil Kumar – Freestyle Wrestling (Men’s 74 kg Division)

Rahul Aware – Freestyle Wrestling (Men’s 57 kg Division)

Bajrang Punia – Freestyle Wrestling (Men’s 65 kg Division)

Sumit – Freestyle Wrestling (Men’s 125 kg Division)

Vinesh Phogat – Freestyle Wrestling (Women’s 50 kg Division)

एथलेटिक्स में जहाँ नीरज चोपड़ा ने सीज़न के बेस्ट डिस्टेंस के साथ गोल्ड जीता वहीं कॉमनवेल्थ गेम्स में बैडमिंटन में देश को और बॉक्सिंग में मैरीकॉम को पहली बार स्वर्ण पदक मिले। कॉमनवेल्थ गेम्स में निशानेबाजी के अनीश सबसे कम उम्र के पदक जीतने वाले भारतीय और मनु दूसरे सबसे कम उम्र के पदक जीतने वाले भारतीय बने। इनके अलावा निशानेबाजी में ही अनीश, हिना, तेजस्विनी, संजीव और जीतू राय ने नए गेम्स रिकॉर्ड्स बनाते हुए स्वर्ण पदक अपने नाम किए। टेबल टेनिस के महिला टीम इवेंट का गोल्ड पहली बार सिंगापुर के अलावा किसी देश ने जीता तो वहीं मनिका इस खेल के सिंगल्स इवेंट का गोल्ड जीतने वाली पहली भारतीय महिला बनीं। वेटलिफ्टिंग में पहले दिन पदक दिलाने वाली मीराबाई चानू ने पदक के साथ-साथ 6 कॉमनवेल्थ गेम्स रिकॉर्ड्स भी अपने नाम किए। कॉमनवेल्थ गेम्स के फ्रीस्टाइल कुश्ती में सुशील कुमार ने जहाँ लगातार तीसरा गोल्ड मेडल अपने नाम किया वहीं बजरंग पुनिया ने बिना एक भी पॉइंट दिए अपना मैच खत्म कर लिया।

Silver Medal Winners –

Seema Punia – Athletics (Women’s Discus Throw)

Satish Kumar – Boxing (Men’s 91 kg Division)

Amit Phangal – Boxing (Men’s 46-49 kg Division)

Manish Kaushik – Boxing (Men’s 60 kg)

P V Sindhu – Badminton (Women’s Singles)

K. Srikanth – Badminton (Men’s Singles)

Satwiksairaj Rankireddy and Chirag Shetty – Badminton (Men’s Doubles)

Mehuli Ghosh – Shooting (Women’s 10m air rifle)

Heena Sidhu – Shooting (Women’s 10m air pistol)

Anjum Moudgil – Shooting (Women’s 50m Rifle 3 Positions)

Tejaswini Sawant (Women’s 50m Rifle prone)

Dipika Pallikal and Saurav Ghosal – Squash (Mixed doubles)

Dipika Pallikal and Joshna Chinappa – Squash (Women’s doubles)

Achanta Sharath Kamal and Sathiyan G. – Table Tennis (Men’s doubles)

Manika Batra and Mouma Das – Table Tennis (Women’s doubles)

Pardeep Singh – Weightlifting (Men’s 105 kg Division)

Gururaja P. – Weightlifting (Men’s 56 kg Division)

Mausam Khatri – Freestyle Wrestling (Men’s 97 kg Division)

Babita Phogat – Freestyle Wrestling (Women’s 53 kg Division)

Pooja Dhanda – Freestyle Wrestling (Women’s 57 kg Division)

कॉमनवेल्थ गेम्स के बैडमिंटन के मेन्स डबल्स में भारत को पहली बार सिल्वर पदक मिला। तेजस्विनी सावंत 2018 कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत के लिए पदक जीतने वाली सबसे उम्रदराज खिलाड़ी बनीं। वहीं मेहुली घोष का पदक जीतने के लिए अपने आखिरी शॉट पर 10.9 स्कोरर लंबे समय तक याद रहेगा। इनके अलावा कॉमनवेल्थ गेम्स में स्कवॉश के मिक्स्ड डबल्स में भारत को पहली बार पदक मिला। टेबल टेनिस में पहली बार कोई भारतीय जोड़ी महिला डबल्स के फाइनल में पहुंची। भारोत्तोलन (वेटलिफ्टिंग) में गुरुराजा इस साल के खेलों में भारत के लिए पदक जीतने वाले पहले खिलाड़ी बने। सुशील कुमार की तरह ही रजत पदक विजेता बबिता फोगाट ने भी अपने कॉमनवेल्थ गेम्स पदकों की हैट्रिक पूरी की।

Bronze Medal Winners –

Navjeet Dhillon – Athletics (Women’s Discus Throw)

Ashwini Ponnappa and Sikki Reddy – Badminton (Women’s Doubles)

Naman Tanwar – Boxing (Men’s 81 kg Division)

Manoj Kumar – Boxing (Men’s 69 kg Division)

Hussamuddin Muhammad – Boxing (Men’s 91 kg Division)

Sachin Chaudhary – Para Powerlifting (Men’s Heavyweight Division)

Om Mitharval – Shooting (Men’s 10m air pistol)

Om Mitharval – Shooting (Men’s 10m air pistol)

Ravi Kumar – Shooting (Men’s 50m pistol)

Ankur Mittal – Shooting (Men’s trap shooting)

Apurvi Chandela – Shooting (Women’s 10m air rifle)

Harmeet Desai and Sanil Shetty – Table Tennis (Men’s doubles)

Achanta Sharath Kamal – Table Tennis (Men’s singles)

Manika Batra and Sathiyan G. – Table Tennis (Mixed doubles)

Deepak Lather – Weightlifting (Men’s 69 kg Division)

Vikas Thakur – Weightlifting (Men’s 94 kg Division)

Somveer – Freestyle Wrestling (Men’s 86 kg Division)

Sakshi Malik – Freestyle Wrestling (Women’s 62 kg Division)

Divya Kakran – Freestyle Wrestling (Women’s 68 kg Division)

Kiran – Freestyle Wrestling (Women’s 76 kg Division)

जहाँ पैरा पॉवरलिफ्टिंग में सचिन चौधरी इस खेल में पदक जीतने वाले इकलौते भारतीय खिलाड़ी बने, वहीं निशानेबाजी में ओम इस साल के खेलों में दोहरे पदक जीतने वाले पहले खिलाड़ी बने। टेबल टेनिस में मनिका बत्रा ने जिन-जिन इवेंट्स में भाग लिया, उन सभी में देश को मेडल मिला।

कॉमनवेल्थ गेम्स तो हो गए, अब आगे ?

कुछ खेलों में जहाँ देश ने पहली बार पदक अपने नाम किए वहीं कुछ खेलों में अपने अच्छे प्रदर्शन को दोहराया या बेहतर किया। निशानेबाज 15 वर्षीय अनीश भनवाला, 22 वर्षीया और टेबल टेनिस की नई स्टार बन कर उभरीं, मनिका बत्रा, 3 बच्चों की माँ मैरीकॉम और सबसे उम्रदराज पदक विजेता तेजस्विनी सावंत ने भी दिखाया कि उम्र सिर्फ एक नम्बर है।

2022 के बर्मिंघम में होने वाले कॉमनवेल्थ गेम्स को लेकर भी उम्मीदें हैं कि हमारे खिलाड़ी पदकों की संख्या में कुछ वृद्धि कर सकेंगे। कुछ स्पर्धाओं में देश को पदक नहीं भी मिले लेकिन फिर भी आगे की प्रतियोगिताओं, जिनमें 2020 में होने वाले अगले ओलंपिक मुख्य हैं, के लिए भी कई खिलाड़ियों ने पदक की आस जगाई है। जैसा कि निशानेबाजी में स्वर्ण जीतने वाले 15 वर्ष के निशानेबाज अनीश भनवाला ने कहा कि असली मंजिल तो ओलंपिक ही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here